इंजीनियर कैसे बने {Engineer kaise bane} ,एडमिशन कहां ले, कौन सी ब्रांच अच्छी है, कितनी सैलरी मिलती है?

Share it now:

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप लोग? आशा करता हूं आप लोग अपनी पढ़ाई अच्छी तरह से कर रहे होंगे तो क्या आप जानना चाहते हैं “ इंजीनियर कैसे बने [ Engineer kaise bane ] ” अगर आप में भी वह टैलेंट, जज्बात और परिश्रम करने की क्षमता छुपी हुई है तो आप भी एक अच्छा इंजीनियर बन सकते हैं।

दोस्तों एक बात मैं आपको जरूर बताना चाहूंगा इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपके अंदर जितने भी भ्रांतियां हैं इंजीनियरिंग या इंजीनियर कैसे बने [ Engineer kaise bane ] से संबंधित वह सारी दूर हो जाएगी क्योंकि आज के दिनों में देखने को मिल रहा है कि एक तरफ ऐसा देखा जा रहा है कि इंजीनियरिंग करके वह लाखों – करोड़ों कमा रहा है और दूसरी तरफ कोई शर्मा जी का बेटा इंजीनियरिंग करके भी बेरोजगार बैठा है तो आखिरकार इसकी सच्चाई क्या है इसकी गहराई में आज हम लोग जाने वाले हैं तो यह आर्टिकल थोड़ा लंबा होगा लेकिन आपको जो यहां से नॉलेज प्राप्त होगी वह बहुत ही शानदार होगी ।

इंजीनियरिंग क्या है [ Engineering kya hai ]

दोस्तों आपने इंजीनियर का नाम तो बहुत ही सुना होगा शायद आपके दोस्त परिवार या कोई रिलेटिव में इंजीनियर भी हो और आप भी इंजीनियर बनना चाह रहे हैं।

अगर ऐसा है तो आपको इंजीनियरिंग क्या है यह भी जानना बहुत ही जरूरी है ताकि आप यह समझ पाए कि यह आपके लायक भी है या नहीं!

दोस्तों इंजीनियरिंग एक टेक्निकल स्किल है या यूं कहे टेक्निकल पढ़ाई है जो अपने एक किसी विषय या ब्रांच में पूरे 4 साल की जाती है और उस विषय में उसे सबसे अधिक नॉलेज होता है।

हालांकि इंजीनियरिंग ब्रांच का चुनाव किस प्रकार किया जाता है यह सारी बातें नीचे की गई है बस फिलहाल आप इतना समझे कि इंजीनियरिंग एक टेक्निकल पढ़ाई के साथ-साथ इसमें बहुत सारे प्रोजेक्ट, असाइनमेंट, और प्रैक्टिकल किए जाते हैं और आप के विषय/ ब्रांच में एक गहरी पढ़ाई होती है। इंजीनियरिंग के 4 साल की पढ़ाई पूरी हो जाने पर आपको B.tech की डिग्री दी जाती है।

इंजीनियरिंग कोर्स की पढ़ाई कौन कर सकता है?

इंजीनियरिंग कोर्स की पढ़ाई वैसे विद्यार्थी कर सकते हैं जिन्होंने अपना 12 वीं कक्षा विज्ञान विषय से की हो जिसमें Physics, Mathematics और Chemistry सब्जेक्ट का होना अनिवार्य है।

तो अब सवाल ये है कि इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए 12वीं में कितने प्रतिशत अंक होना अनिवार्य है?

अगर आपने 12वीं की पढ़ाई सीबीएसई बोर्ड से की है तो आपके 75% अंक अवश्य होने चाहिए।

अगर आपने 12वीं की पढ़ाई किसी स्टेट बोर्ड से की है तो आपके 60% अंक अवश्य होने चाहिए।

अब हम लोग जानेंगे कि इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन कैसे मिलता है?

इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा

दोस्तों अगर आपने अपनी 12वीं की पढ़ाई बड़ी ही मेहनत और लगन से की है तो आपको अपने मनचाहे इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन जरूर मिल जाएगा।

अगर आप इंजीनियर बनना (Engineer kaise bane) चाहते हैं तो आपको इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा JEE Main में अपनी सफलता हासिल करनी होगी तो हमारे देश भारत में दो ऐसे इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा है जिसमें सफल होने के बाद आप भारत के सर्वश्रेष्ठ इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं।

  • JEE Main
  • IIT Advance

JEE Main क्या है इस पर हमने एक आर्टिकल लिख रहा है उसे नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर अवश्य पढ़ें: जेईई मेन एग्जाम क्या है

जेईई मेन (JEE Main) एग्जाम क्या है?

अगर आप जेईई  मेन की परीक्षा को अच्छे अंक से पास करते हैं तो आपको एक अच्छा रैंक प्राप्त होता है और उसी के आधार पर आपको भारत के सरकारी एवं प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन मिलता है यह सारी बातें हमने ऊपर की आर्टिकल में बता रखी है।

इंजीनियरिंग परीक्षा पास करने के बाद एडमिशन कहां मिलता है?

दोस्तों अगर आपने JEE Main परीक्षा को अच्छे अंक से पास कर लिया तो आगे की राह अब बहुत ही आसान होने वाली है क्योंकि इसी Rank के आधार पर अब आपका एडमिशन होगा।

अगर आप जेईईमेन की परीक्षा में सफलता हासिल करते हैं तो आपका एडमिशन भारत के सर्वश्रेष्ठ एनआईटी कॉलेज (NIT Colleges) में होता है।

अगर आपने जेईईमेन के साथ IIT एडवांस के परीक्षा को भी क्वालीफाई कर दिया तो आपका एडमिशन भारत के जाने-माने सर्वश्रेष्ठ सर्वोत्तम आईआईटी कॉलेज (IIT Colleges) में होता है।

नोट: भारत में आईआईटी एडवांस सबसे सर्वोत्तम परीक्षा माना जाता है।

भारत में कुल 31 एनआईटी (NITs) और 23 आईआईटी (IITs) कॉलेजेस है जिसमें IITs की कुल सीटें 11000 (ग्यारह हजार) के लगभग है। अगर एनआईटी (NITs) कॉलेजेस की बात की जाए तो उसमें लगभग 40000 सीटें हैं।

एनआईटी कॉलेज में एडमिशन कैसे मिलता है एवं इससे संबंधित जानकारी और भारत के कुल एनआईटी कॉलेज (NITs) के लिस्ट को देखना चाहते हैं तो इस लिंक पर अवश्य चेक करें: NIT क्या है एवं एडमिशन कैसे मिलता है? 

इंजीनियरिंग की कौन सी ब्रांच अच्छी है ?

इंजीनियरिंग में एडमिशन लेने से पहले यह ध्यान में अवश्य रखें कि आपको अपनी मनपसंद की ब्रांच अवश्य मिलनी चाहिए क्योंकि आगे की 4 साल की पढ़ाई आपके उसी ब्रांच से संबंधित होगी।

engineering branch ke name674777052005381824
Engineering Branch

तो इस बात का अवश्य ध्यान रखें कि एक अच्छा इंजीनियर बनने के लिए आपके पास उस ब्रांच की अच्छी नॉलेज और पकड़ होनी चाहिए और यह तभी पॉसिबल है जब आपको अपनी मनपसंद ब्रांच में एडमिशन मिलती है।

तो चलिए अब मैं आपको बताता हूं इंजीनियरिंग की कुछ टॉप ब्रांच जिसमें आप एडमिशन लेकर काफी हद तक आगे बढ़ सकते हैं और एक अच्छा करियर बना सकते हैं।

इंजीनियरिंग में कौन कौन सी ब्रांच होती है?

नीचे दिए गए कुछ इंजीनियरिंग ब्रांच के लिस्ट है जिसमें आप एडमिशन ले सकते हैं और एक बार एडमिशन लेने से पहले इस ब्रांच के बारे में अवश्य जानकारी प्राप्त कर ले।

Top Engineering Branch List: शीर्ष इंजीनियरिंग ब्रांच के लिस्ट
Computer Science
Mechanical Engineering
Electronics and Communication
Electrical Engineering
Civil Engineering
Information Technology
Chemical Engineering
Mining Engineering
Agricultural Engineering
Aeronautical Engineering

अभी ऐसा देखा जा रहा है कि आईटी कंपनियों का बहुत ही ज्यादा कुछ वर्षों से विस्तार हुआ है जो इसके क्षेत्र में अधिक नौकरियां प्रदान करने के लिए कंपनी की अधिक संख्या का कारण बन गया।

कंप्यूटर इंजीनियरिंग क्या है?

कंप्यूटर इंजीनियर विभिन्न भूमिकाओं में काम करते हैं:

  • कंप्यूटर सिस्टम को बनाना,
  • नेटवर्क और बुनियादी ढांचे के विकास, 
  • कंपनियों के लिए ऐप्स डिजाइन करना,
  • टेक और आईटी कंपनियों की प्रोजेक्ट करना,
  • वेबसाइट डेवलपमेंट करना इत्यादि

तो मैं आपको बता दूं दोस्तों की एक कंप्यूटर इंजीनियर विशेष समाधान या नई तकनीक बनाने के लिए कंप्यूटर हार्डवेयर डिजाइन कर सकता है। इन नौकरियों में कई प्रकार के शोध और डिजाइन शामिल हैं । इंटेल और सैमसंग जैसी कंपनियां फोन, प्रोसेसर और राउटर जैसे उपकरणों को डिजाइन करने के लिए कई कंप्यूटर इंजीनियरों को नियुक्त करती हैं। 

कंप्यूटर इंजीनियर से संबंधित उपकरणों को इंस्टॉल और अपडेट करके इन तकनीकों को सही से काम करने का काम करते हैं। कई कंपनियों को कंप्यूटर इंजीनियरों की आवश्यकता होती है जो उन्हें नवीनतम तकनीक तक की सेवा प्रदान करने के लिए कंप्यूटर नेटवर्क और सिस्टम का डिजाइन और निर्माण कर सकते हैं।  इसमें कंप्यूटर नेटवर्क स्थापित करना, नए घटकों को स्थापित करना और पुराने सिस्टम को अपग्रेड करना शामिल हो सकता है।

इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग क्या है?

क्या आप जानते हैं इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग का क्या काम है? अगर आप इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग करना चाहते हैं तो आपको पता होना चाहिए कि इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियर क्या करते हैं? इनकी मुख्य रूप से एक विशेषज्ञता है जो 

  • इलेक्ट्रॉनिक सर्किट, 
  • उपकरणों,
  • एकीकृत सर्किट और उनके सिस्टम को डिजाइन करते हैं 

इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग एक ऐसी ब्रांच है जिसमें इलेक्ट्रॉनिक सर्किट, डिवाइस और उपकरण सिस्टम इत्यादि की पढ़ाई शामिल हैं।

अगर आज के मार्केट पर विचार किया जाए तो आपको पता चलेगा कि इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग के पीछे का पूरा विचार लोगों की जरूरत की चीजों को डिजाइन करना, बनाना, चलाना और उनकी सर्विसिंग करना है। 

यह मुख्य रूप से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की एक शाखा है। यह क्षेत्र उन उम्मीदवारों को दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण नौकरियां प्रदान करता है जो इस पाठ्यक्रम को आगे बढ़ाने और इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में अपनी डिग्री पूरी करने की इच्छा रखते हैं।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग क्या है?

मैकेनिकल इंजीनियर आमतौर पर ऊर्जा के उत्पादन, वितरण और उपयोग से जुड़े होते हैं सामग्री का प्रसंस्करण;  विनिर्माण प्रणालियों का नियंत्रण और स्वचालन;  मशीनों का डिजाइन और विकास;  और पर्यावरणीय समस्याओं का समाधान।

मैकेनिकल इंजीनियरों के अभ्यास से जुड़ी कुछ अन्य प्रमुख गतिविधियाँ अनुसंधान, परीक्षण निर्माण, संचालन, विपणन और प्रशासन हैं।

मैकेनिकल इंजीनियर उत्पादों और प्रणालियों की एक विस्तृत श्रृंखला विकसित करने के लिए जिम्मेदार टीमों पर काम करते हैं, उदाहरण के लिए, 

  •  अंतरिक्ष शटल
  •  वाहन, 
  •  सभी आकार और आकार के विमान, 
  •  ऑटोमोबाइल, 
  •  टर्बाइन,
  •  पंप, 
  •  बिजली संयंत्र और कारखाने।

सिविल इंजीनियरिंग क्या है?

सिविल इंजीनियरिंग आधुनिक समाज की आधारशिला है और लगभग हर संरचना, जल आपूर्ति प्रणाली, सड़क और पुल जो अस्तित्व में है, के लिए जिम्मेदार है।  वास्तव में, यह सबसे पुराने इंजीनियरिंग विषयों में से एक माना जाता है और पहली बार किसी ने घर या अन्य संरचना का निर्माण किया था।

सिविल इंजीनियरिंग उद्योग का एक क्षेत्र है जो भौतिक और प्राकृतिक रूप से निर्मित संरचनाओं और वातावरण के निर्माण, निर्माण और रखरखाव पर केंद्रित है।  सिविल इंजीनियरिंग :

  •  सड़कों, 
  •  हवाई अड्डों, 
  •  जलमार्गों, 
  • पुलों और इमारतों सहित लगभग हर सार्वजनिक और निजी संरचना के निर्माण के लिए जिम्मेदार है।  

 इस प्रकार की इंजीनियरिंग का उपयोग सार्वजनिक क्षेत्र (सरकार, नगरपालिका) और निजी क्षेत्र (निजी घर) सहित विभिन्न सेटिंग्स में किया जा सकता है।

दोस्तों यह कुछ मुख्य इंजीनियरिंग ब्रांच है जिसमें लोग ज्यादा से ज्यादा जाना पसंद करते हैं इसी प्रकार के इंजीनियरिंग में कई ब्रांच है जो मैंने आपको ऊपर लिस्ट में बताया है। अगर आपका कोई और मनचाहा पसंदीदा ब्रांच है तो आप उसके बारे में गूगल पर सर्च कर सकते हैं। 

इंजीनियरिंग कॉलेज की फीस कितनी होती है?

कई विद्यार्थी और माता-पिता के मन में यह डर बैठा रहता है कि इंजीनियरिंग कॉलेज की फीस तो बहुत ही अधिक होती है और इसके वजह से काफी लोग अपना इंजीनियरिंग बनने के सपने को पीछे छोड़ देते हैं।

तो चलिए अब समझते हैं [ Engineer kaise bane ] कि इस बात में कितनी गहराई है क्या वाकई कुछ ऐसा ही है?

दोस्तों अगर प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज की फीस की बात करें तो वाकई ज्यादा होती है लेकिन अगर आपके अंदर टैलेंट और जुनून है तो आप जेईईमेन के एग्जाम को क्रैक कर सरकारी एनआईटी और आईआईटी जैसे कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं जिसका फीस बहुत ही कम होता है।

अगर आप एनआईटी या आईआईटी संस्थान से अपना इंजीनियरिंग की डिग्री करते हैं तो वह आपको मात्र 8 – 10 लाख के अंदर हो जाती है। लेकिन अगर आप किसी प्राइवेट संस्था से इंजीनियरिंग करते हैं तो आपके 15 से 20 लाख भी खर्च हो जाते हैं।

अगर कोई विद्यार्थी पढ़ाई में बहुत ही होनहार है लेकिन उसके पास कॉलेज की फीस भरने के लिए एक भी रुपए नहीं है तो क्या हुआ इंजीनियरिंग कर पाएगा?

इसका उत्तर एक शब्द में कहूं तो “ हां बिल्कुल कर पाएगा ” दोस्तों अगर आपके पास एक भी रुपए नहीं है  तो आप एजुकेशन लोन लेकर अपना इंजीनियरिंग का सपना पूरा कर सकते हैं और इंजीनियरिंग की पढ़ाई खत्म होते ही आपकी किसी ना किसी कंपनी में प्लेसमेंट लग जाती है उसके बाद इसके फीस को आप आसानी से चुका सकते हैं।

इंजीनियरिंग करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है?

सुना है इंजीनियरिंग करने के बाद लाखों-करोड़ों का पैकेज मिलते हैं !
सुना है शर्मा जी के बेटे इंजीनियरिंग करके भी बेरोजगार हैं !

क्या आप भी इसी चक्कर में पड़े हुए हैं कि आखिरकार   एक तरफ कोई इंजीनियरिंग करके करोड़ों कमा रहा है और दूसरी तरफ शर्मा जी के बेटे इंजीनियरिंग करके भी बेरोजगार है यह कैसे संभव है ?

तो दोस्तों मैं आपको बता दूं कि इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन लेना है जॉब की गारंटी नहीं देती वहां जाने के बाद आपको 4 साल की एक कड़ी मेहनत करनी पड़ती है तब जाकर आपकी किसी ना किसी कंपनी में प्लेसमेंट होती है।

आमतौर पर देखा गया है कि एक अच्छे कॉलेज के इंजीनियरिंग स्टूडेंट को 6 से 15 लाख के बीच का पैकेज मिल ही जाता है और वही बात करें अमेजॉन, माइक्रोसॉफ्ट, गूगल, फेसबुक एवं अन्य कई सारी आईटी कंपनी है जो करोड़ों का पैकेज भी देती है।

निष्कर्ष: Engineer kaise bane

दोस्तों, “ इंजीनियर कैसे बने [ Engineer kaise bane ] ” आर्टिकल में मैंने आपको वह सारी बातें बता दी जो आपके लिए महत्वपूर्ण है दोस्तों एक बात अवश्य ध्यान में रखें कि इंजीनियरिंग करने के चक्कर में आप किसी दूसरे के कहने या बहकावे में ना पड़े या फिर कोई आपका पड़ोसी इंजीनियरिंग कर रहा है तो आप भी उसे देखकर करना चाहते हैं इस तरह की भूल बिल्कुल भी ना करें।

आशा करता हूं की आपको यह सारी जानकारी अच्छे से समझ में आई होगी और अब आप यह डिसाइड कर सकते हो कि क्या आपको भी इंजीनियरिंग करना चाहिए या फिर नहीं अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के बीच अवश्य शेयर करें धन्यवाद !

Share it now:

Hey, I am Uday, A Solopreneur by choice and Blogger by Passion. I started hustling Blogging & the Internet in 2018. That's All!

Leave a Comment