आईआईटी एडवांस क्या है | IIT ADVANCE ki taiyari kaise kare

Share it now:

नमस्कार दोस्तों! मैं आप सभी लोगों का एक नए विषय मैं आपका स्वागत  करता हूं. आज का विषय है IIT Advance ki taiyari kaise kare एवं क्यों करें। चर्चा को आगे बढ़ाने से पहले हम यह जान लेते हैं की IIT-JEE का मतलब क्या है. JEE का पूरा नाम JOINT ENTRANCE EXAMINATION है. यह एक COMPETITIVE परीक्षा है. यह एक इंजीनियरिंग कॉलेज प्रवेश परीक्षा है. इस परीक्षा के माध्यम से देश के सर्वश्रेष्ठ इंजीनियरिंग कॉलेज में नामांकन का अवसर मिलता है।

देश के सर्वश्रेष्ठ कॉलेज ” IIT ” ( INDIAN INSTITUTE OF TECHNOLOGY ) जो वर्तमान में पूरे देश में 23 आईआईटी हैं:

  • IIT Madras
  • IIT Delhi
  • IIT Bombay
  • IIT Kanpur
  • IIT Kharagpur
  • IIT Roorkee
  • IIT Guwahati
  • IIT Hyderabad
  • IIT BHU
  • IIT ISM Dhanbad
  • IIT Indore
  • IIT Ropar
  • IIT Mandi
  • IIT Gandhinagar
  • IIT Jodhpur
  • IIT Patna
  • IIT Bhubaneshwar
  • IIT Tirupati
  • IIT Palakkad
  • IIT Jammu
  • IIT Dharwad
  • IIT Bhilai

आईआईटी एडवांस क्या है | IIT Advance kya hai

IIT Advance ki taiyari kaise kare
IIT Advance kya hai taiyari kaise kare

JEE परीक्षा दो चरण मैं संपन्न होती है. प्रथम चरण है JEE MAINS एवं दूसरा चरण है JEE ADVANCED. इस परीक्षा को अलग अलग संस्थान द्वारा कराए जाते हैं. जैसे की JEE MAINS NTA के द्वारा कराई जाती है एवं IIT-JEE ADVANCED आईआईटी के द्वारा कराई जाती है। आज हम लोग मुख्य रूप से जेईई एडवांस परीक्षा के विषय में बात करेंगे।

JEE ADVANCED दो पाली मैं होती है. प्रथम पाली सुबह 9 से 12 बजे तक होती है एवं दूसरी पाली 2 से 5 बजे तक होती है. इस परीक्षा मैं दोनों पाली के अंक जोड़ी जाति है. यह परीक्षा दुनिया के सबसे कठिन परीक्षाओं मैं से एक है. इस परीक्षा मैं पूर्ण अंक प्रत्येक वर्ष एक नहीं होते हैं. इस परीक्षा से हमें आईआईटी मैं दाखिला मिलता है।

जैसा कि सभी लोग जानते हैं की जेईई की परीक्षा 12वी कक्षा के दौरान देने की अनुमति होती है. इस परीक्षा मैं बैठने के लिए कुछ नियम बनाए गए हैं. जैसे कि बारहवीं कक्षा के दौरान विद्यार्थी को तीन विषयों का अध्ययन करना जरूरी होता है और यह तीन विषय  निम्नलिखित है।

  • भौतिकी विज्ञान (Physics)
  • रासायनिक विज्ञान (Chemistry)
  • गणित (Mathematics)

यह सभी विषय विज्ञान के विभिन्न शाखाएं है.

विद्यार्थी को 12वीं कक्षा के बोर्ड परीक्षा मैं अच्छे अंकों के साथ उत्तीर्ण होना पड़ता है. कॉलेज में नामांकन के लिए प्रत्येक बोर्ड के विभिन्न अंक प्रतिशत को न्यूनतम रखा गया है रखा गया है. जैसे कि

  • सीबीएसई बोर्ड के लिए 75 प्रतिशत अंक न्यूनतम रखा गया है.
  • बिहार बोर्ड के लिए न्यूनतम अंक 70 प्रतिशत रखा गया है.
  • आईसीएसई बोर्ड के लिए न्यूनतम अंक 80 प्रतिशत रखा गया है .
  • झारखंड बोर्ड एवं यूपी बोर्ड के लिए पा 65 प्रतिशत अंक न्यूनतम रखा गया है.

इसी प्रकार अलग-अलग राज्य बोर्ड के लिए अलग-अलग न्यूनतम अंक रखा गया है. हालांकि सभी बोर्ड के न्यूनतम अंक में ज्यादा अंतर नहीं है प्रत्येक विद्यार्थी को जेईई एडवांस के दो प्रयास मिलते हैं।

IIT Advance ki taiyari kaise kare | जेईई एडवांस्ड परीक्षा की तैयारी कैसे करें 


JEE की परीक्षा 12वीं कक्षा के अंतराल एवं उसके बाद में देने का प्रावधान है . जिस उम्र के बच्चे खेलकूद में व्यस्त रहते हैं उस उम्र के विद्यार्थी जो JEE की तैयारी करते हैं वह अपने जीवन के लिए सजग रहते हैं. जेईई की तैयारी करने से हमारे दिमाग कि वृद्धि होती है एवं सोचने की क्षमता बढ़ती है।

बच्चे कम उम्र में ही अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की कोशिश करते है जिससे उनका दिमाग एकत्रित होने लगता है . इससे जीवन में अच्छा करने का मौका मिलता है. जिससे कि आप सामाजिक भीड़ भाड़ से अलग होते हैं. अगर आप इस परीक्षा मैं अब्बल आते हैं तो आपको जीवन में अच्छा करने के लिए अन्य लोगों की तुलना में अधिक मौके मिलते हैं। 

आईआईटी एडवांस परीक्षा की तैयारी के लिए क्या करें

इस परीक्षा की तैयारी के लिए कठिन परिश्रम की आवश्यकता होती है. किसी भी परीक्षा में सफलता का सबसे मूल कारण होता है स्वयं के द्वारा किया गया अध्ययन यानी अंग्रेजी में कहें तो Self Study. यदि आप प्रत्येक दिन Self Study नहीं करते हैं तो आपको इसका नकारात्मक परिणाम देखने को मिल सकता है. केवल शिक्षक के द्वारा पढ़ाए गए चीजों से आप परीक्षा में सफलता प्राप्त नहीं कर सकते है।

यदि आप सफल हो भी गए तो अच्छे परिणाम नहीं आएंगे इसलिए किसी भी परीक्षा के लिए Self Study सबसे ताकतवर एवं एक आवश्यक मूल मंत्र है. Self Study का मंत्र बड़े से बड़े एवं हर सफल व्यक्ति देते हैं. इसीलिए प्रत्येक विद्यार्थी जो भी अपने जीवन में सफल होना चाहते हैं चाहे वह कोई भी क्षेत्र हो , पढ़ाई लिखाई या फिर खेलकूद या कोई भी क्षेत्र हो हमें कार्य खुद से करना चाहिए .अंग्रेजी का एक प्रचलित कथन है – ” self study is the key of success. “

आईआईटी एडवांस परीक्षा की तैयारी के लिए कोचिंग ले या नहीं

आजकल बाजार में इतने सारे कोचिंग या फिर प्राइवेट शिक्षण संस्था खुल गए हैं की इसका असर हमारे युवा पीढ़ी पर दिख रहा है . जिस तरह से यह कोचिंग संस्थान खुल रहे हैं या हमारे शिक्षा योग्यता खत्म होते जा रहे हैं और ऐसा नहीं है कि केवल जेईई के लिए बल्कि जितने भी परीक्षाएं होती है सभी का हाल एक जैसा ही है और इसमें केवल और केवल कोचिंग संस्थानों की गलती नहीं है , इसमें बच्चे , माता पिता एवं उनके परिजनों की भी गलती है।

हर गली मोहल्ले में इस तरह के कोचिंग संस्थान देखने को मिल जाते हैं जोकि यह वादा करते हैं कि हमारे कोचिंग से आपको संपूर्ण भारत में सफलता दिलाएंगे . इसका असर यह पड़ता है की बच्चे मेहनत करना नहीं चाहते हैं , उन्हें केवल और केवल शिक्षक के द्वारा ही सब कुछ चाहिए. इससे जो बच्चे अच्छे हैं उनके दिमाग पर भी बुरा असर पड़ता है।

इन सभी चीजों में कोचिंग संस्थान वाले मोटी रकम कमाते हैं . इसका असर यह भी पड़ता है की  जो बच्चे आर्थिक रूप से कमजोर होते हैं वह अच्छी शिक्षा नहीं ले पाते हैं. देखिए मैं यह नहीं कह रहा हूं कि कोचिंग नहीं जाना चाहिए , कोचिंग जाएं लेकिन काम को स्वयं करने की ज्यादा कोशिश करें जिससे कि आपके सोचने की क्षमता बढ़ेगी . समस्या को सुलझा ने की पहली कोशिश स्वयं करें समस्या का हल शिक्षक से तब जाकर पूछो जब आपको लगे कि अब इस समस्या का हल मुझसे नहीं हो पाएगा।

अब कुछ महत्वपूर्ण बातें जो कि आपको इस परीक्षा की तैयारी में मदद करेगी , इसलिए आप सभी से यह निवेदन है कि इन सभी बिंदुओं को अच्छे से समझे एवं ध्यान केंद्रित करें।

  • प्रत्येक दिन कम से कम 6 घंटा खुद से पढ़ें कोचिंग के अलावा.
  • स्वास्थ्य का अच्छे से देखभाल करें.
  • नींद में कोई कमी ना करें एवं भरपूर नींद लें.
  • भरपूर नींद का मतलब ज्यादा नहीं लेकिन 6 घंटे से 8 घंटे के बीच में होनी चाहिए.
  • एकाग्रता के साथ पढ़ें. 5 घंटे ही पड़े लेकिन 5 घंटे पूरी एकाग्रता के साथ पढ़े.
  • खानपान पर विशेष ध्यान दें , पौष्टिक आहार ज्यादा से ज्यादा ले क्योंकि स्वास्थ्य के बिगड़ने का मुख्य कारण खानपान होता है.
  • प्रत्येक दिन टारगेट बनाकर पढ़ाई करें , हर दिन का एक लक्ष्य होना चाहिए कि आज इस विषय के इस टॉपिक को खत्म करूंगा.
  • समस्याओं को ज्यादा समझाने की कोशिश करें.
  • पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र को बनाने की कोशिश करें.
  • हर हफ्ते mock test देने का प्रयास करें.

तो हमने 10 मुख्य बिंदु के बारे में चर्चा किए जो कि इस परीक्षा के नजरिए से काफी महत्वपूर्ण है आप सभी लोग ऊपर दिए गए सभी बिंदुओं को अच्छे से समझने का प्रयास करें।

निष्कर्ष और जेईई एडवांस्ड से संबंधित सुझाव


इस लेख में हमने यह जाना कि IIT Advance ki taiyari kaise kare और क्यों करें एवं जेईई एडवांस्ड परीक्षा क्या है. हम यह उम्मीद करते हैं की आपको यह लेख पसंद आया होगा एवं जितने भी विद्यार्थी हैं जो कि IIT Advance की तैयारी कर रहे हैं उन्हें इस लेख को पढ़कर कुछ मदद मिली होगी या लेख उन बच्चों के लिए ज्यादा महत्वपूर्ण है जो कि अभी इस परीक्षा की तैयारी में अपनी कदम रखना चाहते हैं।

Share it now:

Leave a Comment